Stress Management


Stress Management

मैदान मैं हारा हुआ आदमी फिर से जीत सकता है ! 
    पर
मन से हारा हुआ आदमी कभी नहीं जीत सकता है !

              तनाव एक प्राकृतिक भावना है जो विशिष्ट घटनाओ का सामना करने मे सक्षम नहीं है। आज के समय मे सब एक बड़ी समस्यासे घिरे हुए है वो है तनाव/स्ट्रेस। अब इस समस्या का जिक्र होना आम हो गया है । हम हमेशा परेशान रहते है जैसे की परीक्षा है तब भी, परीक्षा का परिणाम है तब भी। पैसा है तब भी,नहीं है तब भी। शादी हुई तब भी, नहीं हुई तब भी। संतान है तब भी, नहीं है तब भी। बहोत कुछ है तो खोने का तनाव, नहीं है तो पाने का तनाव। सभी एक दूसरे के आगे निकलने के होड़ मे लगे है, तनावयुक्त जीवन जी रहे है। 

What is Stress ?

            तनाव हमारे मन मे चलनेवाला द्वंद है जो हमारी भावनाओ मे गहरी दरार पैदा कर देता है। हमारी मानसिक स्थिती और परिस्थिती के बिच असंतुलन भर देता है। जो हमें अशांति और अस्थिरता से परिचय करवाता है। शारीरिक और मानसिक स्थिती मे बाधा डाल के हमारे कार्यक्षमता को प्रभावीत करता है जिससे हम काफी विचलित हो जाते है। तनाव हमें तब महसूस होता है जब हम किसी परिस्थितीसे निपटने मे असमर्थ होते है। ज्यादा तनाव लेनेसे हमारा इम्युनिटी सिस्टम  और ह्रदय को नुकसान पहुँचता है अर्थात हमें गंभीर बीमारी का सामना करना पड़ सकता है। तात्पर्य इससे हमारी उम्र भी कम हो सकती है। तनाव से काफी मानसिक समस्याए भी हो सकती है। आमतौर पे देखा जाये तो  ४ मे से १ इंसान इसके चपेट मे आ जाता है। भारत मे ८६% लोग आज के घडी मे तनावसे पीड़ित है। ७५% लोग चिकित्सक से बात करने मे असहज महसूस करते है। काम और वित्त [Finance] तनाव के लोगो के मुख्य कारण है और भी हम आगे देखेंगे।  

Reasons/Causes of the Stress

             हमारे जीवन मे थोड़ी दिन का उतार चढ़ाव आम बात है पर ये लम्बे समय तक चला तो हमारे ज़िन्दगी से जुडी बातो को भी ये ख़राब कर देता है जैसे की करियर की चिंता, वक़्त की कमी, परिवार की ज़िम्मेदारिया, रिश्तो मे बढ़ती दूरिया जैसे की अलगाव [Breakup] तलाक होने पर परिवार का बिखर जाना, बच्चो का घर छोड़ के चले जाना, बुरी आदतों का शिकार होना, अकेलापन और महत्वकांक्षा के बढ़ते बोझ के कारण से कई बार तनाव उत्पन्न हो जाते है। अर्थात हमारे मस्तिष्क को जब पूरा आराम नहीं मिलता और हमेशा किसी ना किसी बात का दबाव बना रहता है तब हम तनावपूर्ण महसूस करते है।   

Cause-of-Stress

तनाव प्रबंधन कैसे करे ? How to manage Stress?

            यदि आप चाहो तो अपने दिनचर्या मे थोडासा बदलाव लानेसे तनाव से निजात पा सकते हो। जैसे की अपने दिनचर्या मे व्यायाम, ध्यानसाधना को शामिल करो हो सके तो सुबह शाम खुली हवा मे सैर करके आए। हमारे इच्छा और आकांक्षा को प्राथमिकता दे अर्थात जो हमें करने का मन करे वो समय रहते ही करले इससे हमें अच्छा महसूस होगा और हमारे अंदर आत्मविश्वास का संचार होगा। हमारे साथ कुछ बुरा हुआ है तो उसे भूल जाने की कोशिश करो क्योंकि हमारी नकारात्मकता हमें ज्यादा तनावग्रस्त महसूस कराती है इसलिए अच्छी आदतों को लेकर सकारात्मक रहे और हमेशा तनावरहित जीवन जीने का अवसर ढूंढते रहे। यदि पति-पत्नी मे तनाव चल रहा है तो आप मैरिज कौंसिलर की मदद आप ले सकते हो। अगर किसीसे गलती हुई है तो माफ़ करना सीखो, माफ़ करनेसे हम आगे बढ़ते है और पुरानी बातो को भूलने मे मदद मिलती है। कभी कभी हमारे जीवन मे ऐसी परिस्थितिया आ जाती है, जिनका मुकाबला हम नहीं कर सकते तो ज्यादा सोचो मत बल्कि परिस्थिती का स्वीकार करो और आगे बढ़ो। एक बात हमेशा रखो, हर समस्या अपने साथ समाधान लेके आती है। हम ज्यादा सोचेंगे तो हमारा तनाव बढ़ेगा और हम अवसाद [Depression] के भी शिकार हो सकते है।          

अवसाद से बाहर आने के लिए ये पढ़े। How to come out of Depression

           हम एक ही काम करने से बहोत बोर हो जाते है लेकिन जब हमारे पास कोई विकल्प ही नहीं होता तब हमें करना ही होता है लेकिन कई बार ऐसा होता है की हमें जरुरत नहीं फिर भी हम करते चले जाते है और परेशान होते रहते है। मान लीजिये मैंने आपको एक पानी का ग्लास दिया और कहा इसे १० मिनट पकड़ के रखो तो आपको कैसा महसूस होगा?  बोर होगा, मन मे अजीब सवाल आएंगे, इससे ज्यादा कुछ नहीं होगा लेकिन अब मैंने कहा, ग्लास २ घंटे पकड़ के रखो, शर्त ये की ना ही आपको पानी पीना है ना ही गिराना है। अब २ घंटे पश्चात मैंने आपको पूछा, अब कैसा लग रहा है तो अब आपका हाथ दुखने लगेगा, अकड़ने लगेगा अर्थात कोई भी चीज़ बिना काम के हम पकड़ के रखेंगे तो हमें तकलीफ ही होगी, सबकुछ बेवजह लगने लगेगा। सही कहा ना। तो इसी तरह हमारे जीवन मे भी कुछ पल ऐसे ही होते है जिसके लिए हम बेकार मे ही चिंता करते रहते है, परेशान होते रहते है और तनावग्रस्त जीवन जीते है। इसलिए चिंता को न्यूनतम अर्थात कम करने की कोशिश करे और साथ ही समय का सही उपयोग करे क्योंकि ऐसा करनेसे ही आप तनाव से निजात पा सकते हो। समय प्रबंधन ही आपको तनाव प्रबंधन सिखाएगा। तो इसका सही तरह से उपभोग करे।    

समय प्रबंधन के लिए पढ़े। Time Management
  
How-to-manage-Stress


Dear Stress, Stop trying to my better half 
                                                          - Rubal Bhatia




मेरा ये आर्टिकल आपको कैसा लगा?  सलाह, सुझाव या राय आप हमसे कॉमेंट बॉक्स में शेयर कर सकते हैं।



Post a Comment

7 Comments

Emoji
(y)
:)
:(
hihi
:-)
:D
=D
:-d
;(
;-(
@-)
:P
:o
:>)
(o)
:p
(p)
:-s
(m)
8-)
:-t
:-b
b-(
:-#
=p~
x-)
(k)