5 ways to forgive yourself in Hindi अपने आप को माफ करने के 5 तरीके

shrutimundada.com

             

What is Self Forgiveness?

          क्षमा को अक्सर किसी ऐसे व्यक्ति के प्रति क्रोध, आक्रोश, और प्रतिशोध की भावनाओं को छोड़ने के लिए एक जानबूझकर निर्णय के रूप में परिभाषित किया जाता है, जिसे आप मानते हैं कि उसने आपके साथ अन्याय किया है। हालाँकि, जबकि आप दूसरों को क्षमा करने की अपनी क्षमता में काफी उदार हो सकते हैं, आप स्वयं पर अधिक कठोर हो जाते हैं 

             वैसे तो इंसान खुद के गलती पे वकील और दूसरोंकी गलती पे जज बनता है। लेकिन जब अपराध की भावना जब दिल मे घर करती है तब छोटीसी गलती भी बड़ी लगने लगती है। खुद को माफ करने के लिए आपको जो कदम उठाने की जरूरत है, वे वही दिखेंगे और महसूस होंगे। इसलिए बुरा महसूस करने के बजाय अच्छा करो और कुछ ऐसे कदमों का पता लगाएं जो आपको अपनी गलतियों को क्षमा करने में बेहतर बनने में मदद कर सकते हैं। चलो आगे देखते है की अपने आप को कैसे माफ़ किया जाता है [How to forgive yourself]

अपने आप को कैसे क्षमा करें How to forgive yourself

1. अपनी भावनाओं पर ध्यान दें। Focus on your emotions

          शांति बनाना और आगे बढ़ना अक्सर कहा आसान होता है। अपने आप को क्षमा करने में सक्षम होने के लिए सहानुभूति, करुणा, दया और समझ की आवश्यकता होती है। आपको यह स्वीकार करने की भी आवश्यकता है कि क्षमा एक विकल्प है। सबसे महत्वपूर्ण ये की आपको सबसे पहले आपके भावना को समझना होगा। आप क्या चाहते है ? गलती पे पछताना चाहते है या आगे बढ़ना चाहते है। 

2. गलती का स्वीकार करें एवं अपनी गलती से सीखें Accept the mistake & Learn from your mistake

          आपने जो गलती की है उसकी स्वीकृति आपको अपने आप को देना है, किसी और को नहीं। हर कोई गलती करता है, लेकिन इन त्रुटियों से सीखना, जाने देना, आगे बढ़ना और खुद को क्षमा करना मानसिक स्वास्थ्य और भलाई के लिए महत्वपूर्ण है।

          दोषी महसूस करने का क्या मतलब है ? हम सभी कभी न कभी गलती करते हैं। मनुष्य के रूप में, हम अपूर्ण हैं। हमारी गलती हमें कुछ न कुछ सबक सिखाके जाती है। वो अनुभव के रूप मे हमारे साथ रहती है। इसलिए गलती से हमें सीखना है और आगे बढ़ना है। वो गलती दोहराना नहीं है क्योंकी एक बार हो तो वो गलती कहलाती है और दोबारा हो तो मूर्खता। 

3 . धैर्य रखें। Be patient

          यह सबसे कठिन हिस्सा हो सकता है। अक्सर जब हम अपने कार्यों के लिए शर्मिंदा और दोषी महसूस करते हैं, तो हम चाहते हैं कि सब कुछ सामान्य हो जाए। लेकिन ये इतना आसान कहा होता है ? थोड़ा समय जाने दीजिये, सब ठीक हो जाता है। कहते है ना, सब्र का फल मीठा होता है। नए सिरे से शुरुआत करे और आगे बढ़िए। [ Do not be afraid to start a new]

4 .दूसरे लोगों को बदलने की कोशिश न करें। Don't try to change other people

          यहां तक ​​​​कि अगर आपने उन लोगों से माफी मांगी है जिन्हें आपने चोट पहुंचाई है, और खुद को माफ करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है, तब भी यह संभव है कि आप हमारे कार्यों से शर्मिंदा महसूस करेंगे-यदि केवल इसलिए कि आप अभी भी चिंतित हैं कि अन्य लोग आपके बारे में कैसा महसूस करते हैं ? लेकिन अन्य लोगों की राय में केवल इतना वजन हो सकता है ? कभी नहीं। क्योंकी आपको क्या करना है ये आप नहीं सोचोगे तो लोग तय करेंगे आपको क्या करना है। 

5 . जो आप उपदेश करते हो उसका पालन करो। Practice what you preach

          आमतौर पे देखा जाये तो हमारे हर एक समस्या का समाधान है पर विडम्बना ये की समस्या दूसरों की होनी चाहिए। हम जो उपदेश दूसरों को देते है उसका पालन करने का समय आ गया है। इसलिए अपने निर्णय पे ठाम रहिये और आगे बढ़िए। गहरी सांस लें और अपने आप को दोस्तों और परिवार के साथ घेर लें। अच्छी कंपनी आपको हमेशा खुश कर सकती है।  

shrutimundada.com

            याद रखें कि दोषी महसूस करना ठीक है क्योंकी  "हमारी हर भावना एक उद्देश्य की पूर्ति करती है। खुशी हमें बताती है कि कुछ सही हो रहा है और हमें दूसरों से जुड़ने के लिए प्रोत्साहित करती है। दुख हमें बताता है कि हमने कुछ खोया है और हम अकेला रहना पसंद करते है। एक अपराध बोध की भावना हमारे अंदर जाती है। क्षमा का मार्ग आसान नहीं है, खासकर जब आप जिस व्यक्ति को क्षमा करने का प्रयास कर रहे हैं, वह स्वयं हो। कारण कोई भी हो, आत्म-जागरूकता पर ध्यान केंद्रित करने से आपको अतीत के दर्द को ठीक करने में मदद मिल सकती है।

          तुम्हारी गलतियां तुम्हें परिभाषित नहीं करतीं। विश्वास करें कि आप एक महान व्यक्ति हैं। उन सभी भयानक गलतियों के बारे में सोचें जो सामान्य/अच्छे लोगों ने की हैं और जिनसे सीखा है। आपकी गलतियाँ उतनी बुरी भी नहीं हैं। जीवन चलता है इसलिए माफ कर दो और भूल जाओ। दूसरों को क्षमा करें जिन्होंने आपके साथ अन्याय किया है और उम्मीद है कि समय के साथ वे महसूस करेंगे कि उनके कार्य गलत थे और या तो आपके साथ, या स्वयं के साथ सामंजस्य स्थापित कर लेंगे। आगे बढ़ो; जीवन कड़वाहट के लिए बहुत कीमती है।

shrutimundada.com


          आखिर मे इतनाही कहूँगी, अतीत के बारे में सोचने के बजाय, वर्तमान पर ध्यान केंद्रित करें और भविष्य की तैयारी करें। याद रखें, अतीत आपको परिभाषित नहीं करता है।  तुम महान हो, तुम अच्छे हो। अपनी गलतियों से सीखें, खुद को क्षमा करें और आगे बढ़ें। 

To read more motivational stories / blog click on
To connect with us on Facebook
Connect with us on Telegram


Post a Comment

1 Comments

Emoji
(y)
:)
:(
hihi
:-)
:D
=D
:-d
;(
;-(
@-)
:P
:o
:>)
(o)
:p
(p)
:-s
(m)
8-)
:-t
:-b
b-(
:-#
=p~
x-)
(k)