What is Confidence & How to improve Confidence ?

       

Confidence



  “When you have confidence, you can do anything  – Sloane Stevens


What is Confidence?


          सफलता मे विश्वास और आत्मविश्वाससे सफलता मिलती है। आत्मविश्वास सफलता तथा ख़ुशी की कुंजी है। यह हमारी दिनचर्या मे एक बड़ी भूमिका निभाता है। हमें ख़ुशी तथा संतोष एवं समाधान का परिचय कराता है। अगर हमारे पास विश्वास है तो हम छोटी छोटी चीज़ो मे भी सकारात्मक तत्व ढूंढ लेते है और ऐसा जीवन बनाने का प्रयास करते है जिनकी हमें मनोकामना होती है। आत्मविश्वास आपके मनकी स्थिति है जो आपके विचारोसे आती है और उसी विचारो पे आपका विश्वास होता है। जब तक हमारे पास विश्वास नहीं हम कुछ भी हासिल नहीं कर सकते। हमारा विश्वासही हमारा मनोबल बढ़ाने का काम करता है। यदि आप सफल बनना चाहते है तो आज की दुनिया मे अच्छा संचार [Communication] बहोत ज़रूरी है। ज्ञान और अभ्याससे विश्वास आता है। जितना ज्यादा अनुभव उतना ज्यादा विश्वास आपको अपने आप पर होगा। 

How to improve Confidence ? विश्वास को कैसे बढ़ाये ?


           अपने बारे मे जो बुरे विचार हम रखते है उसे चुनौती दे। अपना लक्ष्य निर्धारित करे। आप जैसे भी हो वैसे खुद का स्वीकार करे। कुछ नया करनेका सकारात्मक दृष्टिकोण रखे। नकारात्मक लोगो के बिच ना रहे, अपने आपको उन लोगोके साथ रखे जो आपको अच्छा महसूस कराते हो। हर तरीकेसे अपना ख्याल रखे, तंदुरुस्त रहे। अगर हम किसीसे वार्तालाप कर रहे है तो हमारा शारीरिक हावभाव अच्छे होने चाहिए और कपडे वही पहने जिसे हमें सहज महसूस हो। आँखों मे आँखे डालके बात करे। किसी को आप नाम से पुकार रहे हो तो ध्यान रहे वो आवाज नम्र तथा मधुर होनी चाहिए। क्योंकि सबको अपना नाम बहोत प्रिय होता है। आपको आगे बात करने मे भी आसानी हो जाएगी। दूसरे व्यक्ति की हित की बात करो। अच्छे श्रोता बनो, सामनेवाले की भी सुनो। बात करते वक़्त दूसरे व्यक्ति को महत्वपूर्ण महसूस कराओ। हमेशा सकारात्मक बात करो  क्योंकि ये आपके विश्वास को बनाए रखता है। अपने आपसे सवाल पूछो, मैंने आज क्या सीखा जो मुझे भविष्य मे काम आएगा ? मै यह परिस्थिति सुधारने मे क्या मदद कर सकता हु ? और हमेशा अपनी जीत का जश्न मनाओ चाहे वो जीत छोटी हो या बड़ी। आप आपके परिजनों के साथ भी वक़्त बिता पाएंगे और उनके प्यार भरे दो शब्द सुनकर आपको आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलती रहेगी और आपका विश्वास भी बढ़ता रहेगा। आपको अच्छा लगेगा और आप अगले टार्गेट के लिए भी तैयार हो जाओगे।   

Difference between Confidence Self Confidence and Over Confidence 

Confidence            मै कर सकता हु। 
Self Confidence     मै भी कर सकता हु। 
Over confidence    सिर्फ मै ही कर सकता हु। 
 

            हमारे पास अगर कुछ करने का विश्वास हो तो हम कभी हार नहीं सकते। मै आपको ऐसी ही एक कहानी बताती हु। एक बार एक बिज़नेस मैन होता है जो बहोत ज्यादा कर्जे मे होता है। उस कर्जे से बाहर निकलनेका कोई तरीका ही नहीं मिल रहा था। कोई भी उसे पैसे देने को तैयार नहीं था और जिससे उसने पैसे लिए थे वो रोज उसको भला बुरा कहते थे और अपने पैसे मांग रहे थे। ऐसे स्थिती मे उस बिजनेसमैन को कुछ समझ नहीं आ रहा था, इस परिस्थितिसे कैसे बाहर निकले। वो एक पार्क मे अपना सिर पकड़ के बैठा था और भगवान से प्रार्थना कर रहा था की मेरी कंपनी को दिवालिया होने से बचालो। उसी समय वहा से एक बूढ़ा गुजर रहा था और वो बिजनेसमैन को बोला, तुम कुछ ज़्यादा ही परेशान लग रहे हो। तुम अपनी परेशानी बोलोगे तो मै तुम्हारी शायद मदद कर सकू। तो बिजनेसमैनने कहा, हा बहोत परेशान हु और काफी कर्जे मे हु। बूढ़े ने उस बिजनेसमैन को १ मिलियन का चेक दिया और कहा तुम्हारा बिज़नेस सेट हो जाये तो मुझे अगले साल ये धनराशी वापिस दे देना। ऐसा कहकर वो बूढ़ा वहासे निकल जाता है। वो बिजनेसमैन उस चेक को देखता है तो उसपे वारेन बफेट के हस्ताक्षर थे। वो बिजनेसमैन अपने आपसे  कहता है, मेरी तो समस्या एक झटके मे सुलझ गई। लेकिन वो चेक देखके वो सोचता है, अभी मै मेरा बिज़नेस कैसा बढ़ेगा ? इस पे ध्यान देता हु। जब मुझे बहोत पैसे की ज़रूरत होगी तब मै इसका उपभोग करूँगा। उसकी मेहनत और काम की लगन ने उसको इस कदर आगे बढ़ाया की कुछ महीनो मे ही वो कर्जे से बाहर आ गया और वो अब मुनाफा भी कमाने लगा था। एक साल पश्चात वो उस पार्क मे जाता है और उसे वो बूढ़ा आदमी भी मिलता है। उसे वो चेक भी देता है और कर्जे से वो बाहर कैसे आया ये भी बताता है। कुछ देर बाद वहा एक परिचारिका [Nurse] आती है और बूढ़े आदमी को पकड़ लेती है और बिजनेसमैन को पूछती है, आपको कोई तकलीफ तो नहीं दी ? अच्छा हुआ, आपने इस बूढ़े आदमी को पकड़ लिया। ये बूढ़ा आदमी खुद को वारेन बफेट कहता है और हमेशा पागलखाने से बाहर भाग जाता है। ऐसा कहकर वो परिचारिका उस बूढ़े आदमी को लेकर वहासे निकल जाती है। वो बिजनेसमैन ये सब देखकर चौक जाता है और अपने आपसे कहता है, नकली चेक को देखकर मुझमे इतना हौसला आया की मैंने अपना बिज़नेस फिरसे खड़ा कर लिया। फिर उसके समझ आया की उसके विश्वासने उसे इस कदर आगे बढ़ाया की वो आज मुनाफे मे अपना बिज़नेस कर रहा है। तात्पर्य जो अपने आपपर भरोसा रखता है वो सफल होता ही है और हमेशा अपने आपसे कहो, ये मुश्किलें मुझे कमज़ोर बनानेके लिए नहीं तो ज्यादा ताकदवर बनानेके लिए आयी है। मुझे अपनी ओर से पूरा प्रयास देना है सफल होने के लिए। 


वक़्त की देहलीज से यु टकराके ना गिर.... 

विश्वास के साथ बढ़नेवालो के लिए रास्ते बहोत है।         
               



Post a Comment

9 Comments

  1. बिजनेस मॅन की कहाणी अच्छा है confidence mila muje

    ReplyDelete
  2. Really it's motivated to me.

    ReplyDelete
  3. Excellent writing!!!
    Lehro se darkar nauka par nahi hoti
    Koshish karne walo ki kabhi haar nahi hoti

    ReplyDelete
  4. Good story.its really inspired me.

    ReplyDelete
  5. विश्वास ही सफलता की कुंजी है 👍👍👍👍

    ReplyDelete
  6. Like this story very much motivational

    ReplyDelete
Emoji
(y)
:)
:(
hihi
:-)
:D
=D
:-d
;(
;-(
@-)
:P
:o
:>)
(o)
:p
(p)
:-s
(m)
8-)
:-t
:-b
b-(
:-#
=p~
x-)
(k)